ये ज़मीन ये आसमां….हमारा कल, हमारा आज….हमारा बजाज

 

bajaj scooter

bajaj1

प्यारी बजाज स्कूटर,

ये ज़मीन ये आसमां….हमारा कल, हमारा आज….हमारा बजाज! तुम्हारा नाम पढ़ते ही कौन ऐसा होगा जिसके मन में यह गीत नहीं गूंजता होगा.

एक समय था जब शहरों, गांवों, कस्बों, हर कहीं तुम्हारा राज था. तुमने देश को पंख दिए, देश तुम पर आगे बढ़ता था. कभी-कभी सोचता हूँ कि तुम सिर्फ एक स्कूटर नहीं थीं…तुम हर मिडिल क्लास परिवार का सपना थीं…वह सपना जिसे वो जागी आँखों से देखता था…और हर महीने थोड़े-थोड़े रूपए बचा कर सच करता था.

bajaj7

एक लम्बे वेटिंग पीरियड के बाद जब तुम कुलांचे भरते हुए घर आतीं, तो सायकलों से पटे मोहल्ले में उत्सव मन जाता था. स्कूटर सिर्फ घर की ही नहीं, पूरे मोहल्ले की भी शान बन जाती थी. रोज़ सुबह चकाचक धोकर जब उस पर सवार होकर निकलते, तो अड़ोसी-पडोसी भी विदा करने बाहर आ जाते. वो दिन ही अलग थे.

bajaj8

तीन गियर, दो स्ट्रोक और हज़ारों खुशियाँ, यही तुम्हारी पहचान थी, और उस पर खिलखिलाते रिश्ते. स्कूटर पर हेलमेट पहने पिताजी, आगे खड़ी नटखट मुनिया, पीछे इठलाती मुनिया की मम्मी, गोद में एक छोटा सा भैया, यह तस्वीर मानो दिल में बसी हुई है. और हाँ! कभी कभी स्कूटर को वो ४५ डिग्री के एंगल पर झुकाकर चालू करने की तरकीब भी.

bajaj5

bajaj3

सोचता हूँ कई मायनों में तुम उस ज़माने के लोगों जैसी ही थीं. परिवार को लेकर चलने वाली, भरोसेमंद, काम में ज़्यादा और दिखावे में कम. आज वैसे लोग ही नहीं रहे तो तुम्हारा भी नाम मिटता जा रहा है. ‘स्कूटर बेचना है’ के वर्गीकृत विज्ञापनों में या पुराने घरों/गेराजों में सिमटता जा रहा है.

पर सच…जो भी कभी तुम पर सवार हुआ है, वो तुम्हें भूल ही नहीं सकता. बुलंद भारत की बुलंद तस्वीर…कभी धुंधली हो भी सकती है क्या भला!

bajaj6

Images courtesy,

Source 1, Source 2  ,  Source 3, Source 4, Source 5 ,Source 6, Source 7

(Visited 641 times, 3 visits today)

You may also like

3 Comments

    1. Yes, the scooter has been a faithful and trusted ride for many such journeys. It’s incredible how a family of 4 or more could easily adjust in one scooter and with luggage too sometime as you reminded! 🙂

  1. hello,
    such a wonderful pic, its remember me old days , what a days it was. when we god new baja chatek scooter,and ye such hi ke jab hum aur pur pariwar jata ta tho pur muhala dakta ta.
    such a wonderful pic aur yaade.

    Thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *